Breaking

Sunday, 13 January 2019

Biography of MS Dhoni In Hindi ! महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय

Ms Dhoni- महेंद्र सिंह धोनी का नाम तो आपनेे सुना ही होगा आज हम आपको उनके जीवन के संघर्ष और सफलता की कहानी के बारे मेंं बताएंगे कि कैसे छोटे से शहर में रहने वाला  इंसान  भारतीय क्रिकेट टीम का  सबसे सफलतम  कप्तान और विकेटकीपर बना  जिसने भारत को  सभी आईसीसी ट्रॉफी जिताई और भारतीय क्रिकेट टीम को आकाश की बुलंदियों तक पहुंचाया और दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई !

Biography of Ms-honi-in-Hindi, success story of Ms Dhoni-Hindi



Biography of Ms Dhoni in Hindi | महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय


महेंद्र सिंह धोनी का जन्म बिहार ( अब झारखंड ) रांची में है 7 जुलाई 1981 को  एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ धोनी के पिता का नाम पान सिंह और माता का नाम देवकी देवी है उनके भाई का नाम नरेंद्र सिंह धोनी  जो कि एक राजनेता है और बहन का नाम जयंती गुप्ता जो की अंग्रेजी शिक्षक है धोनी ने अपनी पढ़ाई डीएवी  जवाहर विधा मंदिर  जो कि श्यामली जिले में आता था  उसमें अपनी प्रारंभिक  शिक्षा पूरी की !  वह एक एथलेटिक छात्र थे  धोनी ने साथ के साथ ही  सक्रिय रूप से खेलों में भी हिस्सा लेना शुरू कर दिया था महेंद्र सिंह धोनी अपने शुरुआती दिनों में लंबे लंबे बाल रखा करते थे वर्तमान में  उन्होंने अपने बाल कटवा लिए है धोनी को तेज रफ्तार बाइक और कारों का शौक है आज भी उनको जब भी वक्त मिलता है तो वह अपनी पसंदीदा बाइक पर रांची के चक्कर लगाते हैं  धोनी शुरुआत से ही बैडमिंटन और फुटबॉल के शौकिन थे और उनके इसी शौक ने उनकी खेल में ज्यादा रुचि जगाई! वह फुटबॉल में राज्य लेवल तक पहुंच चुके हैं मैं अपनी टीम के गोलकीपर थे जिला स्तर पर खेलते हुए उनके कोच ने उन्हें क्रिकेट खेलने की सलाह दी !  यह सलाह धोनी के लिए इतनी ज्यादा फायदेमंद साबित हुई कि वह भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान और विकेटकीपर बन गए  शुरुआत में वह अपने क्रिकेट से ज्यादा अपनी विकेटकीपिंग के लिए सराह जाते हैं लेकिन वक्त के साथ साथ उन्होंने बल्ले से भी धमाल मचाना शुरू कर दिया और एक विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में उभर कर सामने आए जिन्होंने विरोधी टीम के छक्के छुड़ा दिए महेंद्र सिंह धोनी एक मैच  फिनिशर के रूप में जाने जाते हैं वह एक दाएं हाथ के बल्लेबाज है इसके अलावा वह एक विशेषज्ञ विकेटकीपर भी है और उनकी गिनती भारत के सबसे सफल कप्तानों में की जाती है महेंद्र सिंह धोनी के लिए यह सफर इतना आसान नहीं था लेकिन क्रिकेट के प्रति उनकी सच्ची भावना और कड़ी मेहनत ने उन्हें इस मुकाम पर पहुंचा दिया और आज वह भारत के दिग्गज क्रिकेटर के लिस्ट में शामिल हो गए हैं भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी कप्तानी से उन्होंने कई लोगों का दिल जीत लिया और टीम को एक नई दिशा दिखाई ! महेंद्र सिंह धोनी ने सन 2007 से 2016 तक भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी की 2008 से 2014 तक भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान रहे ! शांत स्वभाव और यूनिक हेयर स्टाइल वाले महेंद्र सिंह धोनी भारत के एक लोकप्रिय क्रिकेटर और मार्केटिंग आइकन भी बन चुके हैं इतनी बड़ी सफलता हासिल करने के बाद भी महेंद्र सिंह धोनी में जरा भी घमंड नहीं है इसलिए वह भारत के इतने चहेते क्रिकेटर है ! महेंद्र सिंह धोनी उन कप्तानों में से हैं जिन्होंने जूनियर ऑल इंडिया ए क्रिकेट टीमों के रैंकिंग में राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व किया महेंद्र सिंह धोनी एक रोल मॉडल और पिनअप स्टार भी हैं  महेंद्र सिंह धोनी ने सन 2011 में भारतीय क्रिकेट टीम को दूसरी बार वनडे विश्वकप जिताने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया जिसकी वजह से उनकी काफी तारीफ हुई और वह भारत के एक लोकप्रिय क्रिकेटर बन गए जब 2011 में भारतीय क्रिकेट टीम विश्व कप जीती तो भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ही थे  इस मैच में धोनी ने 79 गेंदों पर शानदार 91 रन की पारी खेली थी और जैसा कि आप सब जानते हैं कि धोनी एक मैच फिनिशर के रूप में भी जाने जाते हैं तो उन्होंने इस मैच में छक्का मारकर भारत को वर्ल्ड कप जिताया था इस फाइनल मुकाबले में विरोधी टीम श्रीलंका थी  महेंद्र सिंह धोनी शुरुआत से ही एडम गिलक्रिस्ट के प्रशंसक रहे हैं और उनके बचपन के पसंदीदा सहायक अमिताभ बच्चन सचिन तेंदुलकर और मशहूर गायिका लता मंगेशकर है महेंद्र सिंह धोनी वर्तमान समय में भारतीय कप्तान नहीं है उन्होंने कप्तानी से संन्यास ले लिया है वर्तमान समय में भारत के कप्तान विराट कोहली हैं धोनी ने भारतीय टेस्ट टीम से सन्यास ले लिया है और वर्तमान समय में वह T20 और एकदिवसीय क्रिकेट खेलते हैं महेंद्र सिंह धोनी एकदिवसीय क्रिकेट में 10000 रन पूरे करने वाले पांचवे भारतीय हैं महेंद्र सिंह धोनी 37 वर्ष के हो चुके हैं और इस उम्र में भी मैदान के अंदर उनकी इतनी फुर्ती और लचीलेपन को देखकर आज के युवा वर्ग के खिलाड़ी अचंभित रह जाते है

Ms Dhoni Career | महेंद्र सिंह धोनी का करियर 

दसवीं कक्षा से ही क्रिकेट खेलने वाले महेंद्र सिंह धोनी बिहार अंडर 19 की टीम से भी खेल चुके हैं सन 1998-1999 के दौरान कूचबिहार ट्रॉफी से धोनी को पहली बार पहचान मिली इस टूर्नामेंट में धोनी ने 9 मैचों में 488 रन बनाए और 7 स्टंपिंग भी की ! इसी प्रदर्शन के बल पर सन 2000 में पहली बार रणजी ट्रॉफी में खेलने का मौका मिला 18 साल के धोनी ने बिहार के टीम से रणजी में कदम रखा ! रणजी में खेलते हुए धोनी ने सन 2003-04 में कड़ी मेहनत के कारण धोनी को जिंबाब्वे और केन्या दौरे के लिए भारतीय ए टीम में चुना गया जिंबाब्वे के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए उन्होंने 7 कैच और  4 स्टंपिंग की | इस दौरे पर धोनी ने 7 मैचों में 362 रन बनाए ! जिंबाब्वे दौरे पर उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली ने उन्हें टीम में लेने की सलाह दी !  साल 2004 में महेंद्र सिंह धोनी को पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम मे जगह मिली | महेंद्र सिंह धोनी ने अपना पहला वनडे मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेला लेकिन वह इस मैच में फेल हो गए और  0  पर रन आउट हो गए इसके बाद को कई अहम मुकाबलों में मौका दिया गया मगर उनका बल्ला हमेशा ही शांत रहा लेकिन 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हुए धोनी ने 123 गेंदों पर शानदार 148 रन की ऐसी पारी खेली कि सभी इस खिलाड़ी के मुरीद हो गए इसके कुछ ही दिनों बाद श्रीलंका के खिलाफ खेलते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने ऐसा करिश्मा किया कि  विश्व के सभी विस्फोटक बल्लेबाजों को अपनी गद्दी हिलती नजर आई महेंद्र सिंह धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ नंबर 3 पर बल्लेबाजी करते हुए 183 रन की मैराथन पारी खेली |  जो कि किसी  भी विकेटकीपर बल्लेबाज का सर्वाधिक निजी स्कोर था  इस मैच के बाद एम एस धोनी को सिक्सर किंग के नाम सेे जाना  जाने लगा | लोग  उनसे हर मैच में छक्का लगाने की उम्मीद करने लगे  मैच को छक्का मारकर जितना धोनी का स्टाइल बन चुका था | देखते ही देखते रांची का यह सितारा एक दिवसीय क्रिकेट का नंबर वन खिलाड़ी बन गया था  

Ms Dhoni one day career | एमएस धोनी का एकदिवसीय करियर

महेंद्र सिंह धोनी ने एकदिवसीय क्रिकेट में 333 मैचों की 282 पारियों में 10224 रन बनाए हैं जिसमें 10 शतक और 68  50s जिसमें धोनी का सर्वाधिक स्कोर 183 रन है जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ बनाए थे  अपने एकदिवसीय करियर में धोनी 78 बार नॉटआउट रहे हैं और और अब तक वनडे करियर में 787 चौके और 219 छक्के लगा चुके हैं धोनी अपनी छक्कों की वजह से भी काफी चर्चा में रहते हैं अपने एकदिवसीय करियर में धोनी ने कुल 6 ओवर फेंके हैं जिसमें उनको एक विकेट भी मिला है सन 2005-06 मे भारत पाकिस्तान की वनडे सीरीज में एम एस धोनी ने शानदार भूमिका निभाई धोनी ने 5 मैचों की सीरीज में 68 रन 72 रन 2 रन 77 रन बनाए और ज्यादातर पारियों में वह नाबाद रहे और अपनी टीम को 4-1 से सीरीज जिताने में अहम भूमिका निभाई | अपने शानदार प्रदर्शन से धोनी ने 20 अप्रैल 2006 को रिकी पोंटिंग को पछाड़ते हुए  आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर वन का पायदान हासिल किया | 2007 क्रिकेट विश्व कप से पहले वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ दो सीरीज  में महेंद्र सिंह धोनी ने शानदार 100 ओवर के औसत के साथ शानदार प्रदर्शन दिखाया लेकिन 2007 के विश्व कप में महेंद्र सिंह धोनी कोई कुछ खास नहीं कर पाए और उनकी टीम इस टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं बन पाई सन 2007 में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाफ दो एक दिवसीय सीरीज के लिए महेंद्र सिंह धोनी को वॉइस कप्तान बनाया गया 2007 उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में  आईसीसी T20 विश्वकप मे भारतीय टीम का नेतृत्व किया और पाकिस्तान को टी20 विश्व कप फाइनल में हराकर भारत को पहला t20 विश्व कप दिलाया | T20 में सफल कप्तानी के बाद महेंद्र सिंह धोनी को सितंबर 2007 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम के कप्तान की जिम्मेदारी सौंप दी गई | बाद में 2011 में विश्व कप जीतने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया जिसके लिए उन्हें क्रिकेट जगत के कई दिग्गजों समेत अपनी टीममेट महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से भी सराहना मिली | सन 2009 के मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने 24 पारियों में 1198 रन बनाए और 30 पारियों में रिकी पोंटिंग के बराबर रन बनाएं और इसके साथ ही 2009 कई महीनों के लिए एकदिवसीय आईसीसी रैंकिंग में नंबर एक पर रहे | सन 2011 में एकदिवसीय क्रिकेट में अपनी सूझबूझ भरी पारी से भारत को विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई और वह भारत के एकमात्र ऐसे कप्तान बने जिसने अपनी कप्तानी में भारत को दो बार विजेता बनवाया धोनी ने आईपीएल में भी चेन्नई सुपर किंग अपनी कप्तानी में तीन बार विजेता बनवाया | अपने फैसलों की वजह से वह मैदान पर सबसे चहेते क्रिकेटर बन चुके हैं | और 2013 में भारत कोो आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी जिताने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया और भारतीय क्रिकेट टीम को एकदिवसीय विश्व कप जिताया टी20 विश्व कप जिताया चैंपियन ट्रॉफी जिताई टेस्ट मैच जीता है और  तीनों प्रारूप में जीत रहने वाले एक मात्र कप्तान बने  ! 


Ms Dhoni Test career | महेंद्र सिंह धोनी का टेस्ट करियर

महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट में 90 मैचों की 144 पारियों में 4876 रन बनाए हैं जिसमें 6 शतक और 33 50s जिसमें धोनी का सर्वाधिक स्कोर 224 रन है जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाए थे  अपने टेस्ट करियर में धोनी 16 बार नॉटआउट रहे हैं और और अब तक टेस्ट करियर में 544 चौके और 78 छक्के लगा चुके हैं 2005 में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए टेस्ट सीरीज में महेंद्र सिंह धोनी को विकेटकीपर के रूप में चुना गया महेंद्र सिंह धोनी ने अपने पहले मैच में 30 रन बनाए यह मैच बारिश की वजह से रद्द हो गया 2006 की शुरुआत में पाकिस्तान के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी ने अपने पहले टेस्ट शतक को हासिल कर लिया उनके द्वारा लगाए गए शतक से भारत को फॉलन से बचने में मदद मिली उन्होंने अपने अगले तीनों मैचों में शानदार प्रदर्शन किया एक पाकिस्तान के खिलाफ और दो इंग्लैंड के खिलाफ मैच खेले | महेंद्र सिंह धोनी ने सन 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई सीरीज में वाइस कैप्टन के रूप में टीम का नेतृत्व किया
इस सीरीज के चौथे मैच के दौरान धोनी को कप्तान के रूप में नियुक्त किया गया उससे पहले कप्तान अनिल कुंबले मैच में घायल हो गए थे जिस वजह से महेंद्र सिंह धोनी को कप्तान बनाया गया बुरी तरह घायल होने की वजह से अनिल कुंबले को अपने रिटायरमेंट की घोषणा करनी पड़ी | महेंद्र सिंह धोनी ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में शानदार दो शतक लगाए और भारतीय टीम को जीत दिलाई | और उनकी शानदार कप्तानी के तहत भारतीय टीम दिसंबर 2009 में आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में  नंबर वन 1 पर पहुंच गई | और सन 2014 में क्रिकेट के अपने बेहतरीन करियर का आखिरी टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ खेला जिसमें उन्होंने 35 रन बनाए इसकेेे बाद टेस्ट टीम से सन्यास ले लिया लेकिन एकदिवसीय और T20 खेलनाा जारी है ! 

Ms Dhoni T20 career | महेंद्र सिंह धोनी का T20 करियर

महेंद्र सिंह धोनी ने T20 क्रिकेट में 93 मैचों की 80 पारियों में में 1487 रन बनाए हैं जिसमें 0 शतक और 2 50s जिसमें धोनी का सर्वाधिक स्कोर 56 रन है जो उन्होंने  इंग्लैंड के खिलाफ बनाए थे  अपने T20 करियर में धोनी 40 बार नॉटआउट रहे हैं और और अब तक T20 करियर में 107 चौके और 47 छक्के लगा चुके हैं महेंद्र सिंह धोनी ने अपना पहला T20 मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था और इस मैच में उनका प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा था उन्होंने इस मैच में 2 गेंदें खेली थी और शून्य पर आउट हो गए थे हालांकि यह मैच इंडिया जीत गई थी | 2007 में एकदिवसीय विश्व कप में भारत के पूरी तरह हार जाने के बाद T20 की कमान महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में दे दी गई और t20 विश्व कप में धोनी ने ऐसा जलवा बिखेरा कि देखने वाले देखते रह गए उन्होंने भारत को टी20 विश्व चैंपियन बना दिया और तीनों फॉर्मेट पर भारत को नंबर 1 पायदान पर ला खड़ा किया टी20 विश्व कप में भारत ने पाकिस्तान को दो बार हराया फाइनल मुकाबला भी भारत का पाकिस्तान से हुआ था जिस में भारत की जीत हुई थी कहते हैं धोनी अगर मिट्टी को भी हाथ लगा ले तो वह सोना बन जाती है और ऐसा इसलिए कहा जाता है कि वह जो भी दो जिस खिलाड़ी पर भी खेलते हैं वह सफल हो जाता है चाहे वह t20 विश्व कप मुकाबले में आखरी ओवर जोगिंदर शर्मा को देना हो य 2011 एकदिवसीय विश्वकप के फाइनल मुकाबले में खराब फॉर्म से जूझने के बावजूद भी धोनी का खुद 3 नंबर पर आकर खेलना और 79 गेंदों पर 91 रन बनाना या खराब फॉर्म से जूझ रहे युवराज सिंह को 2011 में विश्वकप खिलाना हो उनका हर दांव सही साबित होता है 

Ms Dhoni IPL career | महेंद्र सिंह धोनी का आईपीएल करियर 

महेंद्र सिंह धोनी ने  आईपीएल के 175 मैचों की 158 पारियों  में 4016 रन बनाए हैं जिसमें 0 शतक और 20 50s जिसमें धोनी का सर्वाधिक स्कोर 79 रन है जो उन्होंने पंजाब के खिलाफ बनाए थे  अपने आईपीएल करियर में धोनी 58 बार नॉटआउट रहे हैं और और अब तक आईपीएल करियर में 275 चौके और 186 छक्के लगा चुके हैं
आईपीएल के पहले सीजन में चेन्नई सुपर किंग ने महेंद्र सिंह धोनी को 10 करोड़ रुपए में खरीदा था वह इस टूर्नामेंट के सबसे महंगे खिलाड़ी थे महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग का आईपीएल का तीन बार खिताब जिताया है


Ms Dhoni love Story | महेंद्र सिंह धोनी का प्यार

महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक में खुलासा किया गया है कि एमएस धोनी प्रियंका झा नाम की लड़की से प्रेम करते थे जिनसे उनका रिश्ता काफी गहरा था लेकिन यह रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं चल सका क्योंकि सन 2002 में Priyanka jha की एक कार दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी और इस दुर्घटना का पता धोनी को तब लगा जब वह इंडिया ए टीम के साथ यात्रा कर रहे थे और इस तरह धोनी की लव स्टोरी अधूरी रह गई इस दुर्घटना के बाद धोनी काफी उदास हो गए और उनको अपने कैरियर को ट्रैैैक पर लाने 1 साल लग गया ! 

Ms Dhoni wife | महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी

साल 2010 में महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी बचपन की दोस्त साक्षी से विवाह कर लिया हमेशा विज्ञापनों में छाए रहने वाले एमएस धोनी अपनी निजी जिंदगी में कैमरे से दूर ही रहते हैं और इसका एक उदाहरण उनका विवाह भी है जिसमें उनके करीबी चाहने वाले लोग ही शामिल रहे  ! अगर उम्र की बात की जाए तो साक्षी रावत धोनी से उम्र में 7 साल छोटी हैं और इन दोनों की एक बेटी भी है जिसका नाम से Ziva Dhoni है

Ms Dhoni Awards | महेंद्र सिंह धोनी के पुरस्कार

सन 2007-08 में महेंद्र सिंह धोनी को भारत सरकार ने राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड और पद्मश्री से सम्मानित किया आपको बता दें खेल की दुनिया में दिया जाना है यह सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार है एम एस धोनी को अपने वनडे करियर में 6 बार मैन ऑफ द सीरीज और 20 बार मैन ऑफ द मैच अवार्ड मिल चुका है और अपने टेस्ट करियर में दो बार मैन ऑफ द मैच अवार्ड मिला है  महेंद्र सिंह धोनी को 2008-09 आईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ द ईयर का नाम दिया गया महेंद्र सिंह धोनी कपिल देव के बाद दूसरे खिलाड़ी हैं जिन्हें इंडियन आर्मी का भी सम्मान पद मिला जून 2015 में फॉर्ब्स ने महेंद्र् सिंह धोनी को सबसे ज्यादा महंगेे खिलाड़ियों की लिस्ट में 23वें स्थान पर रखा और इस लिस्ट के अनुसार उनकी कमाई 31 मिलियन अमेरिकी डॉलर हैै

Ms Dhoni Movie | एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी ! (धोनी की बायोपिक) 

सन 2011 में क्रिकेट विश्व कप जीतने के बाद फिल्म निर्देशक नीरज पांडे ने महेंद्र सिंह धोनी के जीवन और उपलब्धियों पर बायोपिक बनाने का फैसला किया और उनकी फिल्म को एमएस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी - Ms Dhoni The Untold Story  का नाम दिया गया इस फिल्म में  धोनी का किरदार  निभाने वाले एक्टर सुशांत सिंह राजपूत थे  यह फिल्म 30 सितंबर 2016 को रिलीज हुई  इस फिल्म को लोगों ने बहुत ज्यादा पसंद किया !  



Note :- दोस्तों यह भी  महेंद्र सिंह धोनी की सफलता की कहानी अगर आपको ऊपर दिए दिए गए आर्टिकल में कुछ भी गलत लगता है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं हम उसमें सुधार करेंगे अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे फेसबुक व्हाट्सएप और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें

No comments:

Post a Comment