Breaking

Monday, 22 July 2019

Anil Kumble Biography in Hindi | अनिल कुंबले का जीवन परिचय


Anil Kumble- अनिल कुंबले भारत के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक हैं, अनिल कुंबले दाए हाथ के बेहतरीन लेग स्पिनर तथा दाए हाथ के बल्लेबाज हैं, भारत के बेहतरीन स्पिन गेंदबाज़ो की जब बात आती तो उसमे सबसे पहला नाम अनिल कुंबले का होता हैं, अनिल कुंबले भारत के पहले स्पिनर तथा दूसरे खिलाड़ी हैं जिन्होने लिमिटेड ओवर वाले अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 200 विकेट का आंकड़ा पार किया था,  अनिल कुंबले शुरुआत में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टीम बल्लेबाज के तौर पर खेले थे, और उनकी छवि बल्लेबाज की ही बनने लगी थी !
Anil kumble biography in hindi, Anil kumble 10 wicket
Anil Kumble Biography in hindi 

Anil Kumble Biography in Hindi | अनिल कुंबले का जीवन परिचय 


अनिल कुंबले का जन्म 17 अक्टूबर 1970 को कर्नाटक राज्य की राजधानी बंगलौर
में हुआ था,  इनके पिता का नाम  कृष्णा स्वामी और माता का नाम सरोजा हैं ! अनिल कुंबले लम्बाई के कारण जम्बो नाम से भी प्रसिद्ध हैं, इन्हे कुंबले उपनाम से ही बुलाया जाता हैं  यह नाम इनके  गाँव के नाम पर ही रखा गया था,  इन्होने नेशनल कॉलेज बसावनागुड़ी से शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात् 1992 में राष्ट्रीय विद्यालय कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की हैं ! कुंबले ग्रेजुएशन तक शिक्षा प्राप्त कर चुके हैं इनके परिवार में माता पिता के अतिरिक्त एक भाई हैं, जिनका नाम दिनेश कुंबले हैं, अनिल कुंबले की शादी क्रिकेट में आने के 9 साल बाद 1999 में चेतना से हुई ! कुंबले के 2 बेटे और एक बेटी हैं, बेटो का नाम स्वस्ती कुंबले, मयास कुंबले हैं तथा बेटी का नाम आरुणि कुंबले हैं ! बचपन से ही कुंबले को क्रिकेट के प्रति गहरी रूचि थी, जो अब तक क़ायम हैं ! दाए हाथ के लेग स्पिनर के रूप में इन्होने क्रिकेट में शुरुआत की | कर्नाटक राज्य की ओर से खेलते हुए अनिल कुंबले ने हैदराबाद के खिलाफ मैच में इन्होने 4 विकेट झटके थे ! उनकी इस बेहतरीन परफॉरमेंस को देखते हुए चयनकर्ताओं ने इन्हे भारतीय अंडर 19 टीम में शामिल किया !

Anil Kumble Career | अनिल कुंबले का करियर


अनिल कुंबले ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत कर्नाटक क्रिकेट संघ के साथ शुरू की ! वे अपनी  राज्य टीम के कप्तान भी बनाए गए थे ! 1990 में टेस्ट मैच में इंग्लैंड दौरे के लिये इनका चयन भारतीय टीम में किया गया | अनिल कुंबले के क्रिकेट करियर का पहला पड़ाव 1990 से लेकर अगले 6 वर्षो तक बेहद यादगार रहा | इसके बाद इन्हें विश्व कप के लिये भारतीय एकादश में शामिल किया गया | सिमित ओवरों के इस फॉर्मेट में कुंबले टेस्ट से भी ज़्यादा ख़तरनाक साबित हुए | इन्होने खेले गए शुरूआती 7 एकदिवसीय मैचों में 15 विकेट झटके थे |  लेग स्पिनर होने के साथ ही इनकी तेज़ बॉल और गूगली बेहद ही ख़तरनाक होती थी जो बल्लेबाज़ों के स्टंप उखाड़ फेकती थी | 25 अप्रैल 1990 को इन्होने अपना पहला एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था | जबकि इन्होने अपना पहला टेस्ट मैच 9 अगस्त 1990 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था |
अनिल कुंबले ने 7 फ़रवरी 1999 को दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला पर पाकिस्तान के विरुद्ध टेस्ट मैच खेलते हुए 26.3 ओवर में सिर्फ 74 रन देकर 10 विकेट लिये थे | 10 विकेट लेकर कुंबले विश्व के ऐसे दूसरे खिलाड़ी बन गए जिन्होंने एक पारी में 10 के 10 विकेट लिये हो | इससे पहले इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर जिम लेकर ने एक पारी में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया था | अनिल कुंबले भारत के पहले स्पिनर तथा दूसरे खिलाड़ी हैं जिन्होने लिमिटेड ओवर वाले अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 200 विकेट का आंकड़ा पार किया था | अनिल कुंबले के 10 विकेट लेने पर भारत ने पाकिस्तान से न केवल 2 मैच की सीरीज जीती वरन अनिल कुंबले को मैन ऑफ़ द मैच भी दिलाया | इसी उपलब्धि के कारण कुंबले क्रिकेट के हॉल ऑफ़ फेम में अपना नाम दर्ज करवा सके | 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाने वाले पहले खिलाड़ी जिम लेकर ने अपना रिकॉर्ड 31 जुलाई 1956 को अर्थात कुंबले 43 साल पहले बनाया था ! कुंबले ने अपना अंतिम टेस्ट मैच 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था | अनिल कुंबले ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का अंतिम एकदिवसीय मैच बरमूडा के खिलाफ खेला था | अनिल कुंबले ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फोर्मट्स में 956 विकेट हासिल किये हैं | वर्ष 2007 से लेकर वर्ष 2008 तक यह भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान भी रहे हैं | अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद इन्हें वर्ष 2016 में भारतीय क्रिकेट टीम का कोच भी बनाया गया | भारतीय कप्तान और कुंबले के वैचारिक मतभेद के चलते 20 जून 2017 को इन्होने अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया !

Anil Kumble Test Career | अनिल कुंबले का टेस्ट करियर 


अनिल कुंबले शुरू के क्रिकेट मैचों में बल्लेबाज़ के रूप में खेले थे |  अपने टेस्ट जीवन की शुरुआत कुंबले ने  मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रफर्ड में ग्राहम गूच की इंग्लिश टीम के विरुद्ध खेलते हुए अपने पहले ही मैच में 3 विकेट हासिल किये ! इसके पश्चात् टेस्ट मैच में खेलने के लिये अनिल कुंबले को सवा वर्ष इंतेज़ार करना पड़ा | फिर उन्होंने 1992-93 में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध टेस्ट मैच खेला | इस बार के दक्षिण अफ्रीका और ज़िम्बाब्वे के दो देशो के दौरे में अनिल कुंबले सफल में से एक थे ! उसके पश्चात् भारतीय क्रिकेट टीम में उनका स्थान महत्वपूर्ण रहा हैं ! कुंबले अपने आदर्श चंद्रशेखर की भाँति  ही खेलो में सफल रहे हैं ! अनिल कुंबले ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी एक अलग अच्छी पहचान बनाई ! कुंबले पारंपरिक स्टाइल से हट कर स्पिनर हैं | जो कभी मीडियम पेस फ़ास्ट गेंद फेंकते हैं कभी गूगली फेंकते हैं | वह गेंद को ज़्यादा घुमाते नहीं हैं जो उनका खुद का अपना अलग अंदाज़ हैं ! वेस्टइंडीज़ ने कुंबले की काबिलियत को कलकत्ता में हुए एकदिवसीय मैच में पहचाना | 1994 में  लखनऊ टेस्ट मैच में श्रीलंका को उनकी श्रेष्ठ गेंदबाज़ी का सामना करना पड़ा | जबकि ऑस्ट्रेलिया ने 1997-98 में अनिल कुंबले की श्रेष्ठ गेंदबाज़ी का प्रदर्शन देखा | पाकिस्तान अनिल कुंबले की गेंदबाज़ी को हमेशा याद रखेगा जो उन्होंने 1999 में की थी और पाकिस्तान के एक ही पारी में 10 विकेट हासिल किये थे | वैसे तो कुंबले 5 विकेट या उससे अधिक विकेट अनेक बार लिये हैं | लेकिन 1999 में 10 विकेट लेकर उन्होंने रिकॉर्ड बना डाला !
अनिल कुंबले ने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 132 मैचों की 236 पारियों में 619 विकेट लिए हैं | वह 35 बार एक पारी में 5 विकेट से ज्यादा ले चुके हैं तथा एक टेस्ट मैच में 8 बार 10 विकेट से ज्यादा ले चुके हैं | उनका सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग प्रदर्शन 10/74 है जो उन्होंने 1999 में दिल्ली में पाकिस्तान खिलाफ लिए थे | बल्लेबाजी प्रदर्शन कुंबले ने 132 मैच के 173 पारियों में 2506 रन बनाए हैं जिसमें उनके 5 अर्धशतक और 1 शतक शामिल है उनका सर्वाधिक टेस्ट स्कोर 110 रन है जो उन्होंने  2007 में  लंदन में इंग्लैंड के खिलाफ बनाए थे | वह अपने टेस्ट करियर में 31 बार नॉटआउट रहे हैं | अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट करियर में कुंबले ने 302 चौके और 9 छक्के लगाए हैं ! 

Anil Kumble one day career | अनिल कुंबले का एकदिवसीय करियर 


अनिल कुंबले ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर में 271 मैचों की 265 पारियों में 337 विकेट लिए है | वह 2 बार 5 विकेट ले चुके हैं | उनका सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग प्रदर्शन 6/12 है जो उन्होंने 27 नवंबर 1993 को वेस्टइंडीज़ के खिलाफ ईडन गार्डन में लिए थे | बल्लेबाजी प्रदर्शन 271 मैचों की 136 पारियों में 938 रन बनाए हैं जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 26 रन है  कुंबले अपने एकदिवसीय करियर में 47 बार नॉटआउट रहे हैं | अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय करियर में कुंबले ने 57 चौके और 6 छक्के लगाए हैं ! 

Anil Kumble IPL Career | अनिल कुंबले का आईपीएल करियर


अनिल कुंबले ने अपने आईपीएल करियर में 42 मैचों की 42 पारियों मेंं 45 विकेट लिए है उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 5/5 है | जो उन्होने बंगलौर में राजस्थान रॉयल के खिलाफ 2009 में किया था ! बल्लेबाजी प्रदर्शन 42 मैचों की 17 पारियों में 35 रन बनाए है इनका सर्वाधिक स्कोर 8 रन है कुंबले अपने आईपीएल करियर में 14 बार नॉटआउट रहेे हैं ! आईपीएल करियर में अनिल कुंबले ने सिर्फ 3 चौके लगाए है !

Anil Kumble Recods | अनिल कुंबले के रिकॉर्ड


अनिल कुंबले 1998 ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध खेलते हुए अपने 200 विकेट पुरे किए | वह अंतर्राष्ट्रीय मैच में इतने विकेट लेने वाले पहले स्पिनर तथा दूसरे भारतीय खिलाड़ी थे | इसके पूर्व कपिल देव ने इतने विकेट लिये थे ! वह 100 विकेट लेने वाले खिलाड़ी भी बहुत कम समय में बन गए थे ! उन्होंने 21 टेस्ट मैच में 100 विकेट ले लिये थे | उनका यह रिकॉर्ड 1995 में बने था ! वह 5 वर्ष में ही 100 विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे !
1994 में उन्होंने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 10 ओवर में 33 रन देकर 5 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया !
विल्स वर्ल्ड कप में वह काफ़ी सफल गेंदबाज़ रहे | अनिल कुंबले ने रणजी ट्राफी में कर्नाटक टीम की कप्तानी की, ईरानी कप में उन्होंने 13 विकेट लिये | 1997 में भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे में ख़राब प्रदर्शन के कारण उन्हें आराम दे दिया गया | फिर उन्हें श्रीलंका के विरुद्ध खेलने के लिये दुबारा टीम में शामिल किया गया | अनिल कुंबले ने 1999 के वर्ल्ड कप में भी भारतीय टीम में भाग लिया था !

Anil kumble award | अनिल कुंबले के पुरस्कार


बेहतरीन लेग स्पिनर और भारत के महान खिलाड़ी अनिल कुंबले को 1995 में अर्जुन पुरस्कार प्रदान किया गया !

Anil Kumble's retirement from cricket | अनिल कुंबले का क्रिकेट से सन्यास

अनिल कुंबले ने मार्च 2007 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले लिया | क्रिकेट से विदाई के वक़्त उन्होंने कहा क्रिकेट महज़ एक खेल हैं | जब आप खेलते और जीत या हार जाते हैं ! तब यह खेल से कही बड़ा लगता हैं | लेकिन जब आप घर वापस आते हैं अपने परिवार और बच्चों को देखते हैं तब लगता हैं की नहीं, यह सिर्फ खेल ही हैं उससे ज़्यादा कुछ नहीं !

Anil Kumble's achievement | अनिल कुंबले की उपलब्धिया 


1. अनिल कुंबले उन गिने चुने भारतीय खिलाड़ियों में से हैं जिन्होने 21 टेस्ट खेलने से कम समय में 100 विकेट लिये हैं !
2. अनिल कुंबले पहले स्पिनर तथा दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होने 1998 में 200 विकेट लेने का आंकड़ा पार किया !
3. अनिल कुंबले टेस्ट मैच की एक ही पारी में 10 विकेट लेने विश्व के दूसरे गेंदबाज़ हैं
4. अनिल कुंबले ने 271 एकदिवसीय मैचों में 337 विकेट लिये हैं !



Note: -  Anil Kumble Biography  in hindi कैसी लगी आप सबको प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए  आर्टिकल में आपको कोई भी कमी नजर आती है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसमें सुधार करके अपडेट कर देंगे | अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आए तो इसे Facebook,  WhatsApp और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें !


No comments:

Post a Comment