Breaking

Saturday, 26 January 2019

Biography of Sunil Gavaskar in Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय

Sunil Gavaskar- सुनील गावस्कर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और सफल सलामी बल्लेबाज है इन्हें विश्व के महान बल्लेबाजों में शामिल किया जाता है इनके नाम कई अविश्वसनीय रिकॉर्ड है इनका पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर है
Biography of Sunil gavaskar in Hindi, Sunil gavaskar
Biography of Sunil gavaskar in Hindi

Biography of Sunil Gavaskar in Hindi | सुनील गावस्कर का जीवन परिचय

सुनील गावस्कर का जन्म 10 जुलाई 1949 को मुंबई महाराष्ट्र में हुआ था उनके पिता का नाम मनोहर गावस्कर और माता का नाम मीनल गावस्कर है  sunil gavaskar wife  का नाम मार्शनील गावस्कर है  इनके बेटे का नाम Rohan Gavaskar है जो भारतीय क्रिकेट टीम में खेल चुके हैं लेकिन वह अपने पिता की तरह नाम नहीं कमा सकें और उनका करियर फ्लॉप ही रहा !
सुनील गावस्कर दाएं हाथ के बल्लेबाज है  इन्हें प्यार से  लिटिल मास्टर  भी कहा जाता है लोग  इन्हें  सनी नाम से भी पुकारते हैं यह अपने कॉलेज के दिनों से ही एक अच्छे क्रिकेटर के रूप में देखे जाते थे उनकी क्रिकेट खेलने के स्टाइल को सभी लोग बहुत पसंद किया करते थे वह सबसे सफलतम बल्लेबाज माने जाते थे इन्होंने बल्लेबाजी से संबंधित कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं सुनील गावस्कर विश्व के दिग्गज क्रिकेटरों में से एक हैं इन्होंने अपने समय में कई सारे नए रिकॉर्ड बनाए तथा कई सारे रिकॉर्ड को तोड़ा.  इसके अलावा अपने समय में 10000 रन बनाने वह विश्व के एकमात्र खिलाड़ी थे 34 शतक लगाकर इन्होंने सर डॉन ब्रैडमैन के रिकॉर्ड को तोड़ा !


Sunil Gavaskar Career

अपने स्कूल के समय से ही गावस्कर एक अच्छे क्रिकेटर के  रूप में अपनी एक पहचान बना चुके थे. 1966 में गावस्कर को भारत के बेस्ट स्कूल ब्वॉय का अवार्ड मिला. सेकेंडरी शिक्षा के अंतिम 2 वर्ष में लगातार दो डबल शतक लगाकर उन्होंने सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया, 1966 में उन्होंने रणजी मैचों में अपना डेब्यू किया, रणजी मैच में कर्नाटक की तरफ से खेलते हुए उन्होंने फिर से दो शतक लगाकर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी और आकर्षित किया, कॉलेज के समय से ही लोग उनके खेल के दीवाने हुआ करते थे. 1971 में उन्हें वेस्टइंडीज दौरे के लिए टेस्ट टीम में चुना गया | इन्होंने बल्लेबाजी से संबंधित कई कीर्तिमान अपने नाम स्थापित किया, गावस्कर ने विश्व क्रिकेट में तीन बार 1 वर्ष में 1000 रन से ज्यादा बनाएं. अपने 15 वर्ष के अंतरराष्ट्रीय करियर में गावस्कर ने 34 शतक लगाए तथा 125 टेस्ट मैचों में 10000 से ज्यादा रन बनाएं और 10000 रन बनाने वाले पहले क्रिकेटर बने ! सनी गावस्कर की हर पारी और रन ऐतिहासिक हुआ करते थे, उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम का कुशल नेतृत्व किया और कई महत्वपूर्ण जीत प्राप्त की, जिनमें Asia cup, Benson & hazes World Cup प्रमुख हैं ! 

वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलते हुए पहले मैच के बाद ही गावस्कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छा गए, क्रिकेट के आभूषण कहे जाने वाले गावस्कर ने एकदिवसीय मैच में भी अपनी टीम के लिए ठोस आधार प्रस्तुत किया है वे 100 कैचों का कीर्तिमान भी इंग्लैंड में बना चुके हैं, गावस्कर क्रिकेट की एक अद्वितीय पहेली है | 1986 में उनके खेल जीवन का उत्तरार्ध होने के बाद भी उनके खेल में और निखार आया, अपने कॉलेज की ओर से क्रिकेट खेलते समय भी वह सबसे सफल बल्लेबाज माने जाते थे गावस्कर को विश्व का सर्वोपरि खिलाड़ी माना जाता है| वह इकलौते भारतीय खिलाड़ी है जिन्होंने वेस्टइंडीज के विरुद्ध 27 टेस्ट मैचों में 2749 रन, इंग्लैंड के विरुद्ध 38 टेस्ट मैचों में 2483 रन, पाकिस्तान के विरुद्ध 24 टेस्ट मैचों में 2089 रन और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 20 टेस्ट मैचों में 1550 रन बनाए हैं क्रिकेट के मैदान में अपने अद्भुत प्रदर्शन और रिकॉर्ड तोड़ने के कारण वह विश्व के श्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं !
जनवरी 1973 में कानपुर में इंग्लैंड के विरुद्ध अपना 11 वां टेस्ट खेलते हुए | उन्होंने 1000 रन पूरे किए | अप्रैल 1976 में पोर्ट ऑफ स्पेन में वेस्टइंडीज के विरुद्ध अपना 23 वां टेस्ट खेलते हुए उन्होंने 2000 रन पूरे किए | दिसंबर 1977 में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध  अपना 34 वां टेस्ट खेलते हुए उन्होंने 3000 रन पूरे किए| दिसंबर 1978 में कोलकाता में वेस्टइंडीज के विरुद्ध अपना 43 वां टेस्ट खेलते हुए 4000 रन पूरे किए | और सितंबर 1979 में बेंगलुरु में अपना 52 वां टेस्ट खेलते हुए 5000 रन पूरे किए !
लंबे अरसे से भारतीय क्रिकेट टीम को जिस ओपनर की तलाश थी उसकी सही खोज 1971 में पूरी हुई, सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज के विरुद्ध अद्वितीय प्रदर्शन किया, उसके बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा उस पहली श्रृंखला में उन्होंने 4 टेस्ट मैचों में 774 रन बनाए, (औसत 184.80) बनाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया |
पोर्ट ऑफ स्पेन में पांचवें टेस्ट की पहली पारी में 124 रन तथा दूसरी पारी में 220 रन बनाकर वे विश्व के विख्यात बल्लेबाज वाल्टर्स, जी.एस. चैपल और लॉरेंस रो की श्रेणी में आ खड़े हुए, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट की पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में डबल शतक लगाने का रिकॉर्ड कायम किया है !

Gavaskar as a captain

1975-76 में न्यूजीलैंड के दौरे के समय गावस्कर ने भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया, जिसमें भारत विजयी रहा|1978-79 में वेस्टइंडीज की टीम ने भारत का दौरा किया था, उस समय उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान नियुक्त किया गया| उसमेंं सुनील गावस्कर ने कई रिकॉर्ड और कीर्तिमान स्थापित किए, उन्होंने 34 शतक बनाए जो उस समय तक सबसे ज्यादा थी,  इस प्रकार शतक बनाने और रन बटोरने के मामले में वह सबसे आगे निकल गए, हालांकि कुछ समय बाद एलन बॉर्डर ने उनका यह रिकॉर्ड तोड़ दिया और उनके सबसे ज्यादा शतक का रिकॉर्ड 20 साल तक रहा 20 साल बाद उनका यह रिकॉर्ड मुंबई के ही सचिन तेंदुलकर ने तोड़ दिया ! 

Sunil Gavaskar one day career| सुनील गावस्कर का एकदिवसीय करियर

सुनील गावस्कर ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर में 108 मैचों की 102 पारियों में 3092 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 27 अर्धशतक और 1 शतक हैं गावस्कर का सर्वाधिक एकदिवसीय स्कोर 103 रन है जो उन्होंने 1987 में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप में बनाए थे | अपने एकदिवसीय करियर में गावस्कर 14 बार नॉटआउट रहे हैं | एकदिवसीय मैचों में गावस्कर ने 234 चौके और 21 छक्के लगाए हैं | अपने अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय करियर की 4 इनिंग्स में गावस्कर ने 1 विकेट हासिल किया हैं !

Sunil Gavaskar Test Career | सुनील गावस्कर का टेस्ट करियर


सुनील गावस्कर ने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 125 मैचों की 214 पारियों में 10122 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 45 अर्धशतक और 34 शतक हैं गावस्कर का सर्वाधिक  टेस्ट स्कोर 236 रन है जो उन्होंने 1983 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चेन्नई में बनाए थे | यह उनकी मैराथन पारी के रूप में याद किया जाता है यह स्कोर उस समय भारतीय क्रिकेट का मानक था. काफी दिनों तक  कोई भारतीय  इस आंकड़े को पार नहीं कर पाया. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में  150 से ज्यादा का स्कोर कई बार किया है. उनके खेल के  सबसे ज्यादा फैन  भारतीय दर्शकों के अलावा वेस्टइंडीज वाले थे | उन्होंने अपने खेल का  सबसे अच्छा प्रदर्शन  ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के खिलाफ ही किया है  उन्होंने सबसे ज्यादा शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ ही मारे हैं | अपने टेस्ट करियर में गावस्कर 16 बार नॉटआउट रहे हैं | टेस्ट मैचों में गावस्कर ने 1016 चौके और 26 छक्के छक्के लगाए हैं | अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर की 29 इनिंग्स में गावस्कर ने 1 विकेट हासिल किया है ! 

Sunil Gavaskar Awards

  • 1975 में अर्जुन पुरस्कार
  • 1980 में पद्मभूषण पुरस्कार
  • 1980 में विजडन पुरस्कार

Sunil Gavaskar Achievement

गावस्कर ने क्रिकेट से संबंधित कई महत्वपूर्ण पुस्तकें भी लिखी है | जिनमें सनी डेज, आइडल्स, रंस एंड रूइंस, तथा वन डे वंडर्स काफी लोकप्रिय है | आकर्षक व्यक्तित्व के स्वामी सनी गावस्कर एक फिल्म में भी अभिनय कर चुके हैं ! 

Interesting facts about Sunil Gavaskar

  1. संगीत सुनने का और पुस्तकें पढ़ने का उन्हें बहुत ही शौक है, उन्होंने स्वयं भी सनी डेज नामक एक पुस्तक लिखी है, और हमेशा लोगों से क्रिकेट की शब्दावली में बात करते हैं ! 
  2. कहते हैं एक बार वह अपनी कार से कहीं जा रहे थे अचानक उनकी कार के आगे एक आदमी आ गया | उन्होंने कार का ब्रेक लगाया और कार से उतरकर उस आदमी के पास गए और बोले- अरे भाई देख कर चला करो वरना रन आउट हो जाओगे | उस आदमी को यह पहचानने में जरा भी देर नहीं लगी कि यह सुनील गावस्कर है ! 
  3. सुनील गावस्कर के बारे में एक आश्चर्यजनक तथ्य यह भी है कि वह अपने शरीर ( कद 5 फुट 5 इंच वजन 66 किलो) को ठीक-ठाक रखने के लिए क्रिकेट के मैदान से सीधे बैडमिंटन के मैदान में पहुंच जाया करते थे
  4. गावस्कर अपने समय काल में 10000 रन और 30 से ज्यादा शतक करने वाले एकमात्र बल्लेबाज थे ! 

Note: -Biography of Sunil Gavaskar in Hindi कैसी लगी आप सबको प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए  आर्टिकल में आपको कोई भी कमी नजर आती है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसमें सुधार करके अपडेट कर देंगे | अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आए तो इसे Facebook,  WhatsApp और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें !

Email subscription करें और पाएं new & more Article आपकी मेल पर !

No comments:

Post a Comment