Breaking

Saturday, 2 February 2019

Biography of virendra sehwag in hindi | वीरेंद्र सहवाग का जीवन परिचय

Virendra Sehwag-  वीरेंद्र सहवाग प्रसिद्ध पूर्व विस्फोटक भारतीय सलामी बल्लेबाज है सहवाग राइट हैंड के बल्लेबाज और राइट हैंड के स्पिनर गेंदबाज भी हैं यह अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण काफी ज्यादा चर्चित है यह विश्व के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक है, सहवाग  एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं  जिन्होंने  सबसे ज्यादा बार मैच की पहली गेंद पर छक्का मारा है, सहवाग ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अक्टूबर  2015 में सन्यास की घोषणा कर दी थी, सहवाग एकमात्र ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट मैच में  दो बार तिहरा शतक लगाया है, सर डॉन ब्रैडमैन और ब्रायन लारा के बाद सहवाग विश्व के तीसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंनेे टेस्ट मैच में दो बार तिहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड स्थापित किया है  !
Biography of virendra sehwag in Hindi,  virendra sehwag
Biography of virendra sehwag in Hindi

Biography of virendra sehwag in hindi | वीरेंद्र सहवाग का जीवन परिचय

वीरेंद्र सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 को हरियाणा के एक जाट परिवार में हुआ | सहवाग अपने माता पिता की 4 संतानों में से तीसरी संतान है सहवाग से बड़ी उनकी दो बहने हैं तथा उनसे छोटा उनका एक भाई है उनकी बहनों का नाम मंजू और अंजू है तथा उनके भाई का नाम विनोद है सहवाग के पिता का नाम कृष्णा सहवाग है इनके पिता का अनाज का व्यापार था तथा माता का नाम कृष्ण जो ग्रहणी थी, इनकी शुरुआती शिक्षा  अरोरा विद्या स्कूल दिल्ली  तथा  जामिया मिलिया इस्लामिया  कॉलेज न्यू दिल्ली  से ग्रेजुएशन हुआ है सहवाग केे पिता बताते हैं कि उनके दिल में क्रिकेट के प्रति प्यार 7 वर्ष की उम्र में ही जाग गया था,  जब उनके पिता उन्हें पहली बार खिलौना दिया था तो तो वह क्रिकेट बैट  ही था, इसके बाद जब वह 12 वर्ष की उम्र में क्रिकेट खेलने के दौरान अपना दांत तुड़वाकर घर लौटे तो उनके पिता ने उनके क्रिकेट खेलने पर बैन लगा दिया, लेकिन उनके क्रिकेट के प्रति लगन देखकर यह बैन उनकी मां ने ही हटवाया और क्रिकेट खेलने की अनुमति दिला दी, शुरुआत से ही क्रिकेट उनका पहला प्यार रहा है, सहवाग क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को अपना मार्गदर्शक मानते हैं वह हमेशा से ही उनके फैन रहे हैं तथा उनके खेलने के तरीकों को काफी हद तक अपने जीवन में अपनाया है | अपनी बैटिंग शैली के लिए सहवाग की  तुलना सचिन तेंदुलकर से की जाती है, बड़े स्कोर बनानेे के मामले में सहवाग ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रैडमैन और वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा के सक्षम करते हैं उनके आदर्श सचिन तेंदुलकर इस मामले में उनसे काफी पीछे हैं, सहवाग को प्यार से वीरू, नजफगढ़ के नवाब, मुल्तान के सुल्तान, और जैन मास्टर ऑफ मॉडर्न क्रिकेट के उपनामो से पुकारा जाता है, वीरेंद्र सहवाग विश्व के सबसे सफल विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं, 1999 में सहवाग में अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच खेला तथा 2001 में  टेस्ट टीम में शामिल हो गए | वीरेंद्र सहवाग को शाकाहारी खाना काफी पसंद है इन्होंने अपनी पसंद को ध्यान मेंं रखते हुए दिल्ली में खुद का एक रेस्टोरेंट खोला जिसका नाम सहवाग फेवरेट्स रखा  !

Virendra sehwag wife | वीरेंद्र सहवाग की पत्नी

वीरेंद्र सहवाग की शादी अप्रैल 2004 में भारतीय यूनियन लॉ मिनिस्टर अरुण जेटली की मेजबानी में कड़ी सुरक्षा में आरती अहलावत से हुई और इनके दो बेटे भी हैं जिनका नाम आर्यवीर और वेदांत है !

Virendra sehwag career | वीरेंद्र सहवाग का करियर

सहवाग को बचपन से ही क्रिकेट का शौक रहा है क्रिकेट के प्रति उनकी रूचि और लगन के बल पर उन्होंने क्रिकेट की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है विश्व क्रिकेट में सफल बल्लेबाजों में अलग पहचान बनाने से पहले सहवाग को काफी असफलताओं का सामना करना पड़ा है सहवाग एक ऐसे खिलाड़ी हैं कि जब वह क्रीज पर आते हैं तो विरोधी टीम के पसीने छूट जाते हैं जब तक वह किस पर खड़े रहते हैं तब तक वह गेंदबाजों की धुनाई करते रहते हैं विरोधी टीम के लिए सहवाग को आउट करना बहुत बड़ी सफलता माना जाता है क्योंकि सहवाग एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जो टेस्ट मैच को भी एकदिवसीय मैच की तरह खेलते हैं टेस्ट मैच में 1 दिन में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी सहवाग के नाम है |
सहवाग ने 1997-98 में दिल्ली क्रिकेट में शामिल होकर अपने करियर की शुरुआत की, 1998 में इनका सिलेक्शन दिलीप ट्रॉफी में नॉर्थ जोन क्रिकेट टीम से हुआ  तब इनका नाम कुल रनिंग लिस्ट में पांचवें स्थान पर था, फिर इन्होंने कड़ी मेहनत करी और इनकी मेहनत के बल पर इनका नाम रनिंग लिस्ट में चौथे स्थान पर आ गया,  जिसमें इन्होंने 274 रन बनाए थे फिर उन्होंने पंजाब के खिलाफ साउथ जोन अगरतला में 175 रन रणजी ट्रॉफी में बनाएं ! इसके बाद इनका चयन अंडर-19 क्रिकेट टीम में किया गया जो साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला गया था ! 
वीरेंद्र सहवाग ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 1999 पाकिस्तानी के खिलाफ की थी इस मैच में उनका प्रदर्शन बेहद शर्मनाक था इस मैच में वह केवल 1 रन बनाकर आउट हो गए थे और उनको आउट करने वाले बॉलर दुनिया के सबसे तेज गेंदबाज शोएब अख्तर थे जिन्होंने उन्हें एलबीडब्ल्यू किया था, इस मैच में इनका गेंदबाजी प्रदर्शन भी काफी निराशाजनक रहा था इन्होंने 3 ओवर में 35 रन दे डाले थे इनके खराब प्रदर्शन के बाद  इन्हें टीम से निकाल दिया गया ! सहवाग को काफी समय तक टीम में शामिल नहीं किया गया, दिसंबर 2000 में सहवाग को जिंबाब्वे के खिलाफ घरेलू सीरीज में फिर से शामिल किया गया, अगस्त 2001 में श्रीलंका और न्यूज़ीलैंड के खिलाफ ट्राई सीरीज में पारी की शुरुआत करते हुए सहवाग ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक बनाया, इस सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ 69 गेंदों में शतक बनाकर सहवाग ने अपनी काबिलियत का एक नमूना पेश किया तथा अपनी पहचान एक विस्फोटक बल्लेबाज केेे रूप में कराई ! 
सहवाग अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में बड़े एवं धुआंधार शतक बनाने में माहिर माने जाते हैं सहवाग शुरू से ही भारतीय क्रिकेट टीम को तेज शुरुआत देते थे और गेंदबाजों पर शुरू से ही हावी हो जाते थे सहवाग एकमात्र ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट मैच में तिहरा शतक बनाया है इसके अलावा वह दुनिया के एकमात्र ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने टेस्ट मैचों में दो तिहरे शतक बनाने के साथ एक पारी में 5 विकेट भी हासिल किए हैं ! 
सहवाग भारत के एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में सर्वाधिक 319 रन का रिकॉर्ड बनाया है जो उन्होंने 2008 में चेन्नई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाए थे, यह भारतीय रिकॉर्ड है अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज गति से बनाया गया तिहरा शतक भी है इसमें उन्होंने केवल 278 गेंदे खेली थी इससे पहले  उन्होंने 2004 में पाकिस्तान केे खिलाफ मुल्तान में 309 रन की पारी खेली थी, मुंबई में श्रीलंका के खिलाफ तीसरा तिहरा शतक का विश्व रिकॉर्ड बनाने  से मात्र 7 रन से चूक गए थे, वह 290 और 299 के बीच आउट होने वाले दुनिया के चौथे बल्लेबाज भी बने | सहवाग भारत की ओर से सर्वाधिक 6 दोहरे शतक बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं ! 
सहवाग को बड़े-बड़े शतक बनाने की आदत रही है टेस्ट मैचों में उन्होंने जो अंतिम 11 शतक बनाए हैं सभी में 150 से ऊपर का स्कोर क्या है !  इनमें दो तिहरे और तीन दोहरे शतक शामिल है, अपने पहले ही टेस्ट में शतक जड़ने वाले सहवाग की तुलना उनकेे आदर्श सचिन तेंदुलकर से की जाने लगी थी ! लेकिन समय के साथ सहवाग ने साबित किया कि उनका अपना एक अलग ही अंदाज है ! 
सहवाग का समय अच्छा भी रहा और बुरा भी रहा, लंबे समय तक वह भारतीय टीम से अलग भी रहे, 2007 विश्वकप मे इन्हें लेने से  इंकार कर दिया था लेकिन कप्तान राहुल द्रविड़ के कहने पर  इन्हें टीम में शामिल किया गया  लेकिन इनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा  इसके बाद ज्यादा ही लंबे समय तक वह भारतीय टीम से बाहर रहे, लेकिन उन्होंने जबरदस्त वापसी की और एकदिवसीय मैचों के साथ साथ टेस्ट में भी सलामी बल्लेबाजी की और खूब चले भी है बल्लेबाज के साथ साथ सहवाग उपयोगी गेंदबाज भी है और कई मौकों पर उन्होंने भारत को अहम सफलताएं भी दिलाई है ! 

Virendra sehwag one day career | वीरेंद्र सहवाग का एकदिवसीय करियर

वीरेंद्र सहवाग ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर में 251 मैचों की 245 पारियों में 8273 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 38 अर्धशतक और 15 शतक हैं सहवाग का सर्वाधिक एकदिवसीय स्कोर 219 रन है जो उन्होंने 2011 में  वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाए थे तथा सचिन तेंदुलकर के 209 रन के रिकॉर्ड को तोड़ा था अपने एकदिवसीय करियर में वीरेंद्र सहवाग 9 बार नॉटआउट रहे हैं | एकदिवसीय मैचों में सहवाग ने 1132 चौके और 136 छक्के लगाए हैं | अपने अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय करियर की 146 इनिंग्स में सहवाग ने 96 विकेट भी हासिल किए हैं ! 

Virendra sehwag Test career | वीरेंद्र सहवाग का टेस्ट करियर

वीरेंद्र सहवाग ने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 104 मैचों की 180 पारियों में 8586 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 32 अर्धशतक और 23 शतक हैं सहवाग का सर्वाधिक टेस्ट स्कोर 319 रन है जो उन्होंने 2008 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चेन्नई  में बनाए थे तथा यह विश्व क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज तिहरा शतक है अपने टेस्ट करियर में वीरेंद्र सहवाग 6 बार नॉटआउट रहे हैं | टेस्ट मैचों में सहवाग ने 1233 चौके और 91 छक्के लगाए हैं | अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर की 91 इनिंग्स में सहवाग ने 40 विकेट भी हासिल किए हैं ! तथा एक पारी में 5 विकेट भी हासिल कर चुके हैं

Virendra sehwag T20 career | वीरेंद्र सहवाग का T20 करियर

वीरेंद्र सहवाग ने अपने T20 करियर में 19 मैचों की 18 पारियों में 394 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 2 अर्धशतक और शतक कोई नहीं हैं सहवाग का सर्वाधिक T20 स्कोर 68 रन है जो उन्होंने 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ डरबन में बनाए थे  अपने T20 करियर में वीरेंद्र सहवाग एक बार भी नॉटआउट नहीं रहे | अपने अंतरराष्ट्रीय T20 मैचों में सहवाग ने 43 चौके और 16 छक्के लगाए हैं !

Virendra sehwag IPL career | वीरेंद्र सहवाग का आईपीएल करियर

वीरेंद्र सहवाग ने अपने आईपीएल करियर में 194 मैचों की 194 पारियों में 2728 रन बनाए हैं | जिसमें उनके 16 अर्धशतक और 2 शतक  शामिल हैं सहवाग का सर्वाधिक आईपीएल स्कोर 122 रन है जो उन्होंने 2014 में चेन्नई सुपर किंग के खिलाफ बनाए थे अपने आईपीएल करियर में वीरेंद्र सहवाग 5 बार नॉटआउट रहे हैं | अपने आईपीएल करियर में सहवाग ने 334 चौके और 106 छक्के लगाए हैं ! 

Virendra sehwag Records | वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड

  • अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज गति से बनाया गया  तिहरा शतक जिसमें उन्होंने केवल 278 गेंद खेली थी और 319 रन बनाए थे
  • विश्व क्रिकेट में एकमात्र ऐसे क्रिकेटर जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक लगाए हैं तथा एक पारी में 5 विकेट भी लिए हैं
  • टेस्ट क्रिकेट में 30 से ज्यादा औरत के साथ सहवाग का स्ट्राइक रेट (82.23)  दुनिया में सबसे ज्यादा है
  • सहवाग एकमात्र ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक लगाया है डॉन ब्रैडमैन और ब्रायन लारा के बाद सहवाग विश्व में तीसरे ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो बार तिहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड स्थापित किया है
  • पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड भी सहवाग के नाम है 410 रन की साझेदारी जो इन्होंने राहुल द्रविड़ के साथ मिलकर करी थी
  •   एकदिवसीय मैचों में 219 रन का रिकॉर्ड जो इन्होंने सचिन तेंदुलकर के 209 रन के रिकॉर्ड को तोड़ कर बनाया था लेकिन बाद में इनका यह रिकॉर्ड हिटमैन रोहित शर्मा 264  रन बनाकर ने तोड़ दिया

Virendra sehwag awards | वीरेंद्र सहवाग के पुरस्कार

  •  वीरेंद्र सहवाग को 2002 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया
  • 2008 में इनके शानदार प्रदर्शन के लिए विजडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड से सम्मानित किया गया यही पुरस्कार इनको 2009 में भी मिला
  • 2010 में आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया गया
  • 2010 में पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया गया
  • 2011 में सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर के नाते ईएसपीएन क्रिकइंफो अवार्ड भी दिया गया

Note: -Biography of virendra sehwag in Hindi कैसी लगी आप सबको प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए  आर्टिकल में आपको कोई भी कमी नजर आती है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसमें सुधार करके अपडेट कर देंगे | अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आए तो इसे Facebook,  WhatsApp और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें !

Email subscription करें और पाएं new & more Article आपकी मेल पर सबसे पहले !

No comments:

Post a Comment