Breaking

Wednesday, 23 October 2019

Sandeep Maheshwari Biography in Hindi | संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

Sandeep Maheshwari- संदीप महेश्वरी भारत के सबसे मशहूर मोटिवेशनल स्पीकर है|यह अपनी मोटिवेशनल स्पीच से लाखों करोड़ों लोगों को जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देतें हैं, संदीप महेश्वरी imagesbazaar के founder और CEO हैं | इमेज बाज़ार भारतीय वस्तुओं और व्यक्तियों का चित्र सहेजने वाली सबसे बड़ी ऑनलाइन साइट है | और इस वेबसाइट पर 10 लाख से ज़्यादा नये मॉडलों की तस्वीरें संरक्षित हैं और इस वेबपेज के साथ 1100 कैमरामैन काम कर रहें हैं | संदीप महेश्वरी का नाम भारत के शीर्ष उद्यमियों में सबसे तेज़ी से उभरने वाले नामों में से एक हैं|संदीप महेश्वरी ने बहुत ही कम समय सफलता के इस मुक़ाम को हासिल किया है | अपनी कड़ी मेहनत और लगन के बल पर संदीप महेश्वरी ने भारत में ही बल्कि विदेश में भी काफ़ी नाम कमाया हैं ! संदीप महेश्वरी युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए और उन्हें निराशा से बाहर निकालने के लिए बहुत सारी जगह सेमिनार भी आयोजित कराते हैं और उनके यह मोटिवेशनल सेमिनार बिलकुल फ्री होते हैं ! आज के समय में संदीप महेश्वरी टॉप बिजनेसमैन की सूची में आते हैं | लेकिन वह अपने मोटिवेशनल सेमिनार की वजह से ज़्यादा फेमस हैं, ज़्यादातर लोग उन्हें मोटिवेशनल स्पीकर के ही रूप में जानते हैं ! इनके प्रेरणादायक वीडियो अक्सर आपको सोशल मीडिया पर वायरल होते दिखेंगे | इन्हें युवा वर्ग ज़्यादा पसंद करता है | यह अपने हर सेमिनार में युवा को आगे बढ़ने की प्रेरणा देते हैं और उनमें नई ऊर्ज़ा भरने का काम करते है | जिससे आज का युवा सफलता की ऊंचाइयों पर पहुँच सकें | संदीप महेश्वरी जी का कहना है कि असफलता हार नहीं है बल्कि वह जीवन की एक सीख है और अच्छा अनुभव वह है जो आपके जीवन के संघर्ष का नया मार्ग है, और संघर्ष ही हमारा सच्चा साथी है ! दोस्तों अगर अपने अभी तक इनकी वीडियो नहीं देखी है तो यूट्यूब पर sandeep maheshwari सर्च करके देख सकतें हो इनकी मोटिवेशनल वीडियो आपको अपनी लाइफ में सक्सेस होने में काफ़ी हेल्प करेंगी तो चलिए जानते हैं आज संदीप महेश्वरी के जीवन के बारे में !
                 
Sandeep maheshwari biography in hindi, Sandeep maheshwari Career
Sandeep Maheshwari Biography in Hindi 


Sandeep Maheshwari Biography in Hindi | संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

संदीप महेश्वरी का जन्म 28 सितम्बर 1980 को दिल्ली के एक साधारण परिवार में हुआ था | संदीप महेश्वरी के पिता का नाम रूप किशोर माहेश्वरी है और माता का नाम शकुंतला रानी माहेश्वरी है | संदीप बचपन से काफी खुशमिजाज़ और शरारती थे | इनकी माता जी का कहना है कि संदीप की हमेशा शिकायतें आया करती थी | लेकिन वह पढ़ने मे भी अच्छे थे | और हमेशा अच्छे नम्बरों से पास हुआ करते थे |

Early Life of Sandeep Maheshwari | संदीप महेश्वरी का शुरुआती जीवन

संदीप महेश्वरी जब छोटे थे | तो वह अपने दोस्त के साथ रेस लड़ा करते थे | दोस्त के पास साईकल थी और संदीप पैदल दौड़ा करते थे क्योंकि संदीप एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे उनके पिता के पास इतने पैसे नहीं हुआ करते थे कि वह संदीप को साईकल दिला सकें | इसलिए हर बार उनका दोस्त उनसे जीत जाता था | तब उन्होंने अपने पिता से ज़िद की वह उनको साईकल खरीद कर दें | उनके पिता ने कहा मैं कोई टाटा बिरला नहीं हूँ जो सारी फरमाइशें पूरा करता रहूँ | पिता ने डांटा और कहा जाओ नहीं दिलाऊंगा साईकल फिर संदीप ने माँ से पूछा कि ये टाटा बिरला कौन है | माँ ने कहा टाटा बिरला वो लोग होते हैं जिनके पास बहुत सारे पैसे होते हैं | माँ की बात सुनकर संदीप ने कहा एक दिन मैं भी टाटा बिरला बनूँगा | जब संदीप की माँ ने यह बात अपने रिश्तेदारों को बताई तो हर कोई संदीप को अपने पास बुलाकर पूछ रहा था बड़े होकर क्या बनोगे बेटा संदीप ने कहा टाटा बिरला तो हर कोई संदीप महेश्वरी पर हस रहा था | संदीप समझ गए थे कि सब उनका मज़ाक उड़ा रहें हैं | तब संदीप माहेश्वरी ने बड़ा होकर टाटा बिरला बनने का फैसला किया | लेकिन सभी लोगों ने संदीप का मज़ाक उड़ाना जारी रखा | बड़े होते होते इस तरह की बातें संदीप महेश्वरी के दिमाग़ में इस क़दर बैठ गयी थी कि उनको लगने लगा दस हज़ार रूपए कमाना भी बहुत मुश्किल है !
संदीप के पिता एक छोटे से बिजनेसमैन थे जिनका एल्युमिनियम का कारोबार था | एल्युमिनियम का कारोबार उस समय काफी चर्चाओं में था | लेकिन मुनाफा तो इस बिज़नेस में कम था और कम्पटीशन बहुत ज़्यादा था लगभग दस साल चलने के बाद ये कारोबार ठप्प हो गया | घर की सहायता करने के लिए संदीप महेश्वरी ने अपनी माँ के साथ मिलकर एक मल्टीलेवल कंपनी को ज्वाइन किया | जिसमें चीज़ो को घर पर ही बनाकर बेचना होता था | लेकिन मल्टीलेवल कंपनी का काम भी ज़्यादा दिनों तक नहीं चल सका और यह कारोबार भी बंद हो गया इस समय उनका परिवार आर्थिक मंदी से जूझ रहा था | संदीप के पिता काफी परेशान रहते थे | इस संकट की घड़ी में संदीप के परिवार ने टूटने के बजाए खुद को और ज़्यादा संगठित किया | संदीप महेश्वरी ने अपने परिवार को सभालने के और भी कई काम किये | लेकिन कोई भी काम ज़्यादा दिन तक नहीं चल सका और हर काम में उनको असफलता ही हाथ लगी | इसके बाद उन्होंने परिवार को संभालने के लिए पीसीओ का काम शुरू किया उस समय मोबइल का इतना चलन नहीं था | कुछ समय के लिए उनका यह काम काफी अच्छा चला | संदीप सुबह शाम पीसीओ पर बैठा करते थे | और यहीं से उन्होंने अपने परिवार की मदद करनी शुरू की बाकि के समय दूसरे काम किया करते थे | तब पीसीओ को उनकी माँ संभालती थी !

Sandeep Maheshwari Education | संदीप महेश्वरी की शिक्षा

संदीप महेश्वरी को घर में आर्थिक परेशानी होने की वजह से अपनी पढ़ाई अधूरी ही छोड़नी पड़ी | इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली से ही प्राप्त की | संदीप अपने स्कूल समय में काफी शरारती थे काफी ज़्यादा झगड़े करते थे | और इनके दोस्त भी नहीं थे | स्कूल समय इनका केवल एक ही दोस्त और अगर वो भी किसी दिन छुट्टी कर लेता था | तो संदीप चुपचाप ख़ामोशी से स्कूल किसी कोने में अकेले  बैठे रहते थे | 10वी कक्षा के बाद संदीप स्कूल बदला जब वह 11वी कक्षा दूसरे स्कूल में तब उनकी मुलाक़ात नेहा नाम की लड़की से हुई | दोनों की दोस्ती हुई और धीरे धीरे ये दोस्ती प्यार में बदल गयी | यही लड़की आगे चलकर Sandeep Maheshwari की wife बनी | जो आज नेहा महेश्वरी के नाम से जानी जाती है | जब संदीप से 12वी कक्षा पास करी तब इन्हें पैसे कमाने की इच्छा हुई | इसके लिए उन्होंने कई काम करने शुरू किये जैसे घरेलु सामान बेचना | और इसी पैसे से वह अपनी घर की भी मदद किया करते थे | और फिर संदीप ने दिल्ली के kirorimal college से बीकॉम करने की शुरुआत की | जहाँ वो मॉडलिंग भी किया करते थे ! वहीं उन्हें फोटोग्राफी का भी शौक़ होने लगा उन्हें फोटोग्राफी में मॉडलिंग से भी ज़्यादा मज़ा आने लगा | लेकिन परिवार की आर्थिक परेशानियों की वजह से कॉलेज की पढ़ाई पूरी नहीं की और कॉलेज को दो साल में ही छोड़ दिया |

Sandeep Maheshwari Career | संदीप महेश्वरी का करियर

लगातार मिल रहीं असफलताओ के कारण संदीप महेश्वरी निराशा के साथ जीने लगे थे | उसी समय उन्होंने एक अपने दोस्त के साथ एक मल्टीलेवल मार्केटिंग कंपनी के सेमिनार परिचर्चा में हिस्सा लिया | उस सेमिनार में संदीप को कुछ समझ नहीं आ रहा था | जो बातें उस सेमिनार में बताई जा रही थी वो सभी संदीप के सिर के ऊपर से उतर गयी | उस समय संदीप महेश्वरी की उम्र 18 साल थी | वहा एक 21 साल का लड़का स्पीच दें रहा था और वह अपना 2.5 लाख रूपये महीने का चेक दिखा रहा था | संदीप ने सोचा जब ये इतने पैसे कमा सकता है तो मैं क्यों नहीं ये भी तो मेरी ही तरह इंसान है | संदीप एक बार फिर उस लड़के ने निराशा से संघर्ष करने का हौसला दिया | इस हौसले से ही संदीप को नये तरह के उद्यम आरम्भ करने की प्रेरणा मिली | और अब संदीप ने ठान लिया था कि वह भी उस लड़के की तरह नए उद्यम आरम्भ करेंगे और अपनी तरह नए युवाओं को  जीवन संघर्ष से प्रेरित करेंगे ! ये आवाज़ उनकी अंतरात्मा से आ रही थी | इस विचार के साथ वे अपने कुछ दोस्तों के साथ उस लड़के की कंपनी में गए ! मगर वहां भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी | न उन्हें और न ही उनके किसी दोस्त को कंपनी में रखा गया | अब उनके दोस्त ही उन पर हसने लगे थे ! इस असफलता ने उन्हें थोड़ा निराश ज़रूर किया लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी ! संदीप असफलताओ का मूल्यांकन करने लगे और अपनी गलतियों में सुधार करने लगे !
कॉलेज छोड़ने के बाद उन्होंने मॉडलिंग में अपना करियर बनाने की सोची और मॉडलिंग करने लगे लेकिन वह यह महसूस कर रहें थे की मॉडल को अच्छा मुक़ाम नहीं मिल रहा था | इसलिए उन्होंने मॉडलिंग छोड़ दी | इसके बाद उन्होंने MASH AUDIO VISUALS PVT.LTD नाम की कंपनी खोली लेकिन उनकी ये मेहनत भी बेकार हो गयी और कंपनी कुछ ही महीनों में बंद हो गयी | फिर उन्होंने 2002 में तीन दोस्तों के साथ मिलकर एक कंपनी खोली लेकिन वो भी 6 महीनों में बंद हो गयी ! जिसके बाद उन्हें काफी दुःख हुआ लेकिन संदीप हार मानने वालो में से नहीं थे, और अपनी असफलताओ को लोगों के साथ शेयर करते हुए एक किताब लिख डाली ! लेकिन वो भी कामयाब न हो पाई ! लेकिन संदीप महेश्वरी पीछे नहीं हटे और उन्होंने फिर से कैमरा उठा लिया ! और अकेले ही फोटो खींचने लगे वो किसी की भी फोटो खींचते थे और अपना गुज़ारा कर लिया करते थे ! और उन्होंने 2003 में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते हुए 10 घण्टे 45 मिनट में 122 मॉडल के 10000 फोटो खींच लिम्का बुक में  अपना नाम दर्ज करा लिया ! इस रिकॉर्ड के बाद उनके पास काम की कमी नहीं रहीं ! और यहीं से उनके सफल करियर की शुरुआत हो गयी ! लिम्का बुक में नाम दर्ज कराने के बाद उनको बहुत सारे व्यवसाय मिलने लगे ! अब उनके पास कई मॉडल और विज्ञापन कंपनिया आने लगी ! और फिर देखते ही देखते कुछ ही समय में उनकी कंपनी भारत की सबसे बड़ी फोटोग्राफर एजेंसी बन गयी | और अब संदीप महेश्वरी के पास पैसो की कोई कमी नहीं रही | इसके बाद उन्होंने इस कला को बढ़ाने के लिए उन्होंने वेबसाइट बनाने का निर्णय लिया | जिसमें वे इंडियन मॉडल और इंडियन फोटोग्राफर की फोटो डालते थे ! और 2006 में उन्होंने इसकी शुरआत करते हुए imagesbazaar नाम की वेबसाइट बनाई ! लेकिन शुरूआती दिनों में इस वेबसाइट का विकास उतना नहीं जितना वे सोच रहें थे ! जिस वजह से संदीप ने अपनी पूरी मेहनत इसमें लगायी और वेबसाइट पर कुछ बदलाव किये | और इसके बाद से संदीप महेश्वरी ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और आकाश की बुलंदियों को छूना शुरू कर दिया | और फिर वेबसाइट बढ़ती ही चली गयी | और आज ये देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन फोटोग्राफी कंपनी है | अभी उनके पास 45 देशो से लगभग 7000 से ज़्यादा क्लाइंट है ! और अंत में संदीप महेश्वरी ने अपनी सभी असफलताओ को सफलता में बदल दिया | संदीप अपनी असफलताओ को सबके सामने रखा और लोगों को एक मार्गदर्शन देना शुरू करा आज संदीप महेश्वरी इंडिया के सबसे अच्छे मोटिवेशनल स्पीकर हैं जिनकी सभी वीडियो लोगों को काफी पसंद आती हैं !

Sandeep Maheshwari Awards | संदीप महेश्वरी के पुरस्कार और उपलब्धियां

1. व्यापार दुनिया पत्रिका द्वारा भारत के सबसे होनहार उद्योगपति !
2. ET Now चैनल के Tomorrow Award के अकेले हक़दार !
3. ग्लोबल यूथ मार्केटिंग फोरम द्वारा स्टार यूथ अचीवर अवार्ड
4. ब्रिटिश हाई कमीशन की तरफ से उन्हें युवा उद्यमी का अवार्ड !
5. भारतीय उद्योग समिति द्वारा 2013 क्रिएटिव उद्योगपति का सम्मान !
6. इसके साथ ही कई चैनलों ने इन्हें वर्ष का उद्यमी घोषित किया !


Read more:-
विराट कोहली का जीवन परिचय
मिल्खा सिंह का जीवन परिचय 
रतन टाटा का जीवन परिचय
भुवनेश्वर कुमार का जीवन परिचय 
जैक मा का जीवन परिचय


Note: - Sandeep Maheshwari Biography in hindi कैसी लगी आप सबको प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए  आर्टिकल में आपको कोई भी कमी नजर आती है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसमें सुधार करके अपडेट कर देंगे | अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आए तो इसे Facebook,  WhatsApp और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें !


Email subscription करें और पाएं new & more Article आपकी मेल पर सबसे पहले !

No comments:

Post a Comment