Breaking

Thursday, 14 February 2019

Yuvraj Singh biography in hindi | युवराज सिंह का जीवन परिचय

Yuvraj Singh- भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम के काफी प्रसिद्ध खिलाड़ी हैैै यह लेफ्ट हैंड के विस्फोटक बल्लेबाज है तथा लेफ्ट हैंड के स्पिन गेंदबाज भी है. यह एक ऑलराउंडर है. युवराज सिंह क्रिकेट के बहुुत अच्छे खिलाड़ी है इन्होंने अपने क्रिकेट करियर बहुत सारेे रिकॉर्ड बनाए हैं इन्होंने आईसीसी T20 वर्ल्ड कप 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के ऊपर एक ही ओवर में 6 छक्के लगाए थे और मात्र 12 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया था जो कि एक विश्व रिकार्ड है, इनका नाम विश्व के टॉप फिल्डर में लिया जाता है तथा इन्हें सिक्सर किंग के नाम से भी जाना जाता है इनका निक नेम यूवी है ! युवराज सिंह काफी ज्यादा आक्रामक खिलाड़ी है, इन्होंने अपने क्रिकेट करियर में बहुत सारे अविश्वसनीय रिकॉर्ड बनाए है इसलिए इन्हें वर्ष 2012 में भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी  द्वारा अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया, और वर्ष 2014 में पद्मश्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया !
Yuvraj singh biography in Hindi, yuvraj singh biography
Yuvraj singh biography in Hindi

Yuvraj singh biography in hindi | युवराज सिंह का जीवन परिचय

युवराज सिंह का जन्म चंडीगढ़ के पंजाबी परिवार में 12 दिसंबर 1981 को हुआ उनके पिता का नाम योगराज सिंह है जो कि पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी है साथ ही यह पंजाबी फिल्म के अभिनेता भी रह चुके हैं उनकी माता का नाम शबनम सिंह है इनका एक भाई भी है जिसका नाम जोरावर सिंह है युवराज सिंह को बचपन से ही टेनिस और रोलर स्केटिंग जैसे खेलों में रुचि थी और वह  इन  खेलो में काफी अच्छे भी थे इन्होंने नेशनल अंडर 14 रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप भी जीती थी इन को इन खेलों में रुचि थी लेकिन इनके पिता यह नहीं चाहते थे इनके पिता इन्हें  एक क्रिकेटर बनाना चाहते थे, उन्होंने युवराज सिंह को क्रिकेट खेलने के लिए फोर्स किया तथा वह युवराज को क्रिकेट की रोज ट्रेनिंग भी देते थे, युवराज के पिता चाहते थे कि युवराज उनकी ही तरह एक फास्ट बॉलर बने मगर युवराज स्कैटर बनना चाहते थे, युवराज सिंह ने अपनी स्कूली पढ़ाई चंडीगढ़ के ही DAV पब्लिक स्कूल से की | इन्होंने चाइल्ड स्टार के रूप में 2 फिल्मों मेहंदी सगड़ दी और पट सरदार में भी काम किया, कुछ समय बाद इनकेे माता पिता का तलाक हो गया और युवराज अपनी माता के साथ रहने लगे !

Yuvraj singh wife | युवराज सिंह की पत्नी

युवराज सिंह ने 30 नवंबर 2016 को भारतीय मूल की ब्रिटिश मॉडल है हेजल कीच से शादी की थी शादी से पहले इनका नाम काफी सारी अभिनेत्रियों के साथ जोड़ा गया है

Yuvraj Singh career | युवराज सिंह का करियर

युवराज सिंह बाएं हाथ से खेलने वाले बल्लेबाज है और स्लो लेफ्ट आर्म ऑर्थोडॉक्स बोलिंग भी करते हैं इसके जरिए वह अपने कैरियर में आगे बढ़े स्पिन बॉलर की तुलना में युवराज सिंह तेज गेंदबाज को ज्यादा अच्छे से खेलते हैं वर्ष 2005 इंडियन ऑयल कप युवराज सिंह के लिए उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट था युवराज सिंह बहुत अच्छे फील्डर है और फील्डिंग के दौरान स्टम्स पर इनका लक्ष्य बहुत अच्छा है युवराज एक आक्रामक तेज बल्लेबाज है जिनका T20 में स्ट्राइक रेट 150 से ज्यादा और एकदिवसीय मैचों में 90 के आसपास है इन्हें विस्फोटक बल्लेबाज भी कहा जाता है युवराज सिंह के फॉर्म में आते हैं तब इनका मैच देखने लायक होता है क्योंकि वह उस वक्त बहुत ही आसानी से चौके और छक्के लगा देते हैं सूत्रों की मानें तो 1999 के बाद से युवराज सिंह ने सबसे ज्यादा रन आउट किए हैं ! 
सिक्सर किंग युवराज सिंह ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 11 वर्ष की उम्र में ही कर दी थी पंजाब अंडर-12 की तरफ से खेलते हुए नवंबर सन 1995-96 जम्मू और कश्मीर अंडर-16 के खिलाफ की | इसके बाद इन्होंने 1996-97 पंजाब अंडर-19 से हिमाचल प्रदेश के खिलाफ मैच खेला, युवराज सिंह पहली बार  कूच बिहार ट्रॉफी के दौरान चर्चा में आए जब इन्होंने पंजाब क्रिकेट टीम की तरफ से खेलते हुए 358 रन बनाएं इस प्रदर्शन के बल पर इन्हें  सन 2000 में  अंडर-19  विश्व कप के लिए भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला जिसमें मोहम्मद कैफ की कप्तानी में भारत ने जीत हासिल की थी,  युवराज ने  इस टूर्नामेंट में  अपने  ऑल राउंडर प्रदर्शन के बल पर  प्लेयर ऑफ द  टूर्नामेंट  अवॉर्ड हासिल किया !  अंडर-19  विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन के चलते आईसीसी ने नॉकआउट ट्रॉफी के लिए युवराज सिंह को  भारतीय टीम में  चयनित किया गया इन्होंने सन 2000 तक भारत में अंतरराष्ट्रीय लेवल पर मैच खेलने शुरू कर दिए ! इन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच केन्या के खिलाफ खेला, इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम की जीत नहीं हुई लेकिन युवराज सिंह का प्रदर्शन लाजवाब रहा.  इसी टूर्नामेंट मे युवराज सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 82 गेंदों पर 84 रन की शानदार पारी खेली. इसके अलावा इसी टूर्नामेंट में श्रीलंका के खिलाफ इनका प्रदर्शन शानदार रहा ! 
युवराज सिंह के क्रिकेट करियर की सबसे शानदार इनिंग्स जो शायद वह कभी भूल नहीं सकते, जब वह जुलाई 2002 में नैटवेस्ट सीरीज के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ खेले थे. इंग्लैंड ने इस मैच में भारत के खिलाफ फाइनल में 324 रन का लक्ष्य रखा था, इस मैच में भारत ने शुरुआत तो बहुत अच्छी की थी लेकिन एक के बाद एक विकेट गिरते गए और भारत का स्कोर 135/5 हो गया था जब सचिन तेंदुलकर आउट हो गए तो युवराज सिंह ने इस मैच में मोहम्मद कैफ के साथ मिलकर शानदार साझेदारी कर बेहतरीन प्रदर्शन किया. और अपनी शानदार बैटिंग के बल पर युवराज ने इस मैच में जान डाल दी थी और भारत यह मैच जीत गया था. युवराज सिंह ने वर्ष 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला अंतरराष्ट्रीय शतक बनाया, लेकिन उनका सबसे शानदार प्रदर्शन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रहा जब ऑस्ट्रेलिया के सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में भारत का ऑस्ट्रेलिया के साथ मैच था इस मैच में युवराज सिंह ने 119 गेंदों पर 139 रन बनाए थे. युवराज सिंह का अगला शतक वेस्टइंडीज केे खिलाफ रहा जब उन्होंने 110 गेंदों पर 114 रन बनाए थे.
वर्ष 2005-06 दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और पाकिस्तान के खिलाफ हुई लगातार 3 सीरीज में युवराज सिंह को मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया, इसमें युवराज सिंह ने 15 मैचों में 3 शतक और 4 अर्धशतक लगाए थे.सितंबर वर्ष 2007 में राहुल द्रविड़ के इस्तीफे के बाद महेंद्र सिंह धोनी कप्तान के रूप में चुने गए उसी समय युवराज सिंह को भारतीय क्रिकेट टीम में उप कप्तान के रूप में चुना गया.
नवंबर 2007 में युवराज ने पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया पाकिस्तान के खिलाफ हुई सीरीज में युवराज ने 5 मैचों में 4 अर्धशतक लगा कर मैन ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड हासिल किया ! एकदिवसीय मैचों में युवराज का प्रदर्शन शानदार रहा है टेस्ट मैच में नियमित रूप से खिलाड़ी नहीं थे किंतु किसी खिलाड़ी के घायल हो जाने पर इन्हें टीम में ले लिया जाता था. इन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच वर्ष 2003 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सौरभ गांगुली की जगह पर खेला था, लेकिन युवराज टेस्ट टीम में अपनी जगह नहीं बना सके ! युवराज सिंह ने अपने टेस्ट करियर में 3 शतक और 3 अर्धशतक बनाए हैं टेस्ट मैच मेंं इनके तीनों शतक पाकिस्तान के खिलाफ है इसी तरह इनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर चलता रहा है लेकिन अभी वह लंबे समय से अंतरराष्ट्रीय भारतीय क्रिकेट टीम से बहार है.

Yuvraj singh one day career |  युवराज सिंह का एकदिवसीय करियर

आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 में युवराज सिंह चार बार मैन आफ द मैच चुने गए जिसके चलते इन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट का अवार्ड मिला ! वर्ष 2011 में ही युवराज सिंह अपनी जिंदगी के सबसे कठिन दौर से गुजर रहे थे जब उन्हें यह पता चला कि उनके बाएं फेफड़े में कैंसर हो गया, जो कि स्टेज 1 में था. वे कीमोथेरेपी ट्रीटमेंट के लिए US के बोस्टन रिसर्च सेंटर में गए !  लगभग 1 साल लगा इनका इलाज पूरा होने में और वे अप्रैल 2012 में भारत वापस आ गए, ठीक होने के बाद युवराज सिंह ने अपना पहला मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला !
युवराज सिंह ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर में 304 मैचों की 278 पारियों में 8701 रन बनाए हैं जिसमें उनके 52 अर्धशतक और 14 शतक हैं युवराज सिंह का सर्वाधिक स्कोर 150 रन है जो उन्होंने 19 जनवरी 2017 को कटक में इंग्लैंड के खिलाफ बनाए थे इस मैच में युवराज सिंह ने 127 गेंदों का सामना करते हुए 150 रन ताबड़तोड़ बनाए थे जिसमें उन्होंने 21 चौके और 3 छक्के लगाए थे अपने एकदिवसीय करियर में युवराज 40 बार नॉटआउट रहे हैं अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय करियर में युवराज ने 908 चौके और 155 छक्के लगाए हैं अपने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय करियर में युवराज सिंह ने 304 में मैचो  की 161 इनिंग्स में 111 विकेट भी हासिल की है तथा यह 1 बार 5 विकेट लेने का कारनामा भी कर चुके हैं ! 

Yuvraj singh Test career | युवराज सिंह का टेस्ट करियर

युवराज सिंह का टेस्ट करियर ज्यादा अच्छा नहीं रहा इनको टेस्ट में मौके तो मिले लेकिन यह टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए ज्यादातर मौके इनको तभी दिए जाते थे जब कोई खिलाड़ी चोटिल हो जाता था तब उस खिलाड़ी की जगह पर युवराज सिंह को मौका मिल जाता था ! 
युवराज सिंह ने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 40 मैचों की 62  पारियों में 1900 रन बनाए हैं जिसमें उनके 11 अर्धशतक और 3 शतक शामिल है और युवराज सिंह के  तीनों ही शतक  पाकिस्तान के खिलाफ है युवराज सिंह का सर्वाधिक स्कोर 169 रन है जो उन्होंने 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ बेंगलुरु में बनाए थे इस मैच में युवराज सिंह ने 203 गेंदों का सामना करते हुए 169 रन बनाए थे जिसमें 28 चौके और 1 छक्का लगाया था युवराज सिंह अपने टेस्ट करियर में 6 बार नॉट आउट रहे हैं अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में युवराज ने 260 चौके और 22 छक्के लगाए हैं अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर में युवराज ने 40 मैचों की 35 इनिंग्स में युवराज ने 9 विकेट भी हासिल किए हैं ! 

Yuvraj singh T20 career | युवराज सिंह का T20 करियर

राहुल द्रविड़ के इस्तीफे के बाद युवराज सिंह भारतीय टीम के उपकप्तान के रूप में सामने है T20 वर्ल्ड कप 2007 में युवराज सिंह को एक विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में टीम में शामिल किया गया इस वर्ल्ड कप के शुरू होने से पहले भारत की इंग्लैंड के साथ 7 मैचों की सीरीज हुई जिसमें इंग्लैंड के मासकरहंस ने युवराज सिंह के एक ओवर में 5 छक्के लगाए थे | यह युवराज को सहन नहीं हुआ 12 सितंबर 2007 को T20 वर्ल्ड कप की शुरुआत हुई 19 सितंबर को भारत का इंग्लैंड के खिलाफ मैच हुआ जिसमें भारत की स्थिति करो या मरो की तरह हो गई थी यह मैच मात्र 17 ओवर का था ! जब युवराज सिंह बैटिंग कर रहे थे इंग्लैंड के खिलाड़ी एंड्रयू फ्लिंटॉफ से युवराज की कुछ कहासुनी हो गई युवराज सिंह पहले ही सात मैचों की सीरीज में 1 और 5 छक्के खाकर इंग्लैंड के बॉलर से तपे हुए थे फ्लिंटॉफ से कहासुनी होने के बाद जब स्टूअर्ट ब्रॉड युवराज के सामने बॉलिंग लेकर आए तो युवराज ने एक और में ही छह छक्के लगा डालें और मात्र 12 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है  ! और उस समय का T20 वर्ल्ड कप भारत के ही नाम रहा और युवराज इस टूर्नामेंट के टॉप परफॉर्मर रहे, इसके बाद कैसे इस हुई जिसमें युवराज का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा.
युवराज सिंह ने अपने अंतरराष्ट्रीय T20 करियर में 58 मैचों की 51 पारियों में 1177 रन बनाए हैं जिसमें उनके 8 अर्धशतक और शतक कोई नहीं है युवराज का सर्वाधिक T20 स्कोर 77 रन है जो उन्होंने 10 अक्टूबर 2013 को राजकोट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाए थे इस मैच में युवराज ने 35 गेंदों का सामना करते हुए ताबड़तोड़ 77 रन बनाए थे जिसमें 8 चौके और 5 छक्के लगाए थे तथा भारत को जीत दिलाई थी ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 202 रन का लक्ष्य रखा था युवराज अपने T20 करियर में 9 बार नॉट आउट रहे अंतरराष्ट्रीय T20 मैचों में युवराज ने 77 चौके और 74 छक्के लगाए हैं T20 करियर की 31 इनिंग्स में युवराज ने 28 विकेट भी हासिल की है यह उपलब्धियां इनके बेहतरीन ऑल राउंडर प्रदर्शन को दर्शाती है.

Yuvraj singh IPL career | युवराज सिंह का आईपीएल करियर

युवराज सिंह आईपीएल के शुरुआती 2 सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब टीम के कप्तान बने यह टीम बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा और बिजनेस मैग्नेट नेस वाडिया की थी ! उस समय युवराज आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी थे इन्होंने बहुत सारे एकदिवसीय मैचों में शानदार पारियां खेलकर भारत को जीत दिलाई | क्रिकेट के इतिहास में यह विश्व के सबसे बेहतरीन फिल्डर में से एक माने जाते हैं !  युवराज सिंह मूल रूप से हार्ड हिटर सिक्सर किंग के रूप में जाने जाते हैं आईपीएल में लोगों को इन से बहुत उम्मीदें थी लेकिन यह उनकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए और अगले साल इस टीम की कप्तानी श्रीलंका के कुमार संगकारा का हाथों में दे दी गई ! 
वर्ष 2011 में आईपीएल में एक नई टीम पुणे वायरस आई उसने युवराज सिंह को अपनी टीम में खरीदा और अपनी टीम का कप्तान भी बनाया इसमें युवराज सिंह ने 14 मैचों में 343 रन बनाए ! लेकिन कुछ कंट्रोवर्सी के चलते 2012 में यह टीम आईपीएल में दिखाई नहीं थी ! इसके बाद वर्ष 2014 में रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु ने 14 करोड़ में युवराज सिंह को अपनी टीम में खरीदा !  किंतु किंगफिशर के एक एंप्लोई ने युवराज को लेटर लिखा कि वह इस टीम के लिए ना खेले, इसके बाद वर्ष 2015 में दिल्ली डेयरडेविल्स ने युवराज सिंह को 16 करोड रुपए में अपनी टीम में खरीदा, 2016 में सनराइजर्स हैदराबाद ने युवराज सिंह को 7 करोड़ में अपनी टीम में खरीदा इस टीम में युवराज सिंह का प्रदर्शन अच्छा रहा ! 
युवराज सिंह ने अपने आईपीएल करियर में 128 मैचों की 122 पारियों में 2652 रन बनाए हैं जिसमें उनके 12 अर्धशतक और शतक कोई नहीं है युवराज का सर्वाधिक आईपीएल स्कोर 83 रन है जो उन्होंने 2014 में रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए राजस्थान के खिलाफ बनाए थे इस मैच में युवराज ने 38 गेंदों का सामना करते हुए ताबड़तोड़ 83 रन की पारी खेलते हुए अपनी टीम को मैच जिताया था जिसमें उन्होंने 7 चौके और 7 छक्के लगाए थे अपने आईपीएल करियर में युवराज 15 बार नॉट आउट रहे हैं !  आईपीएल करियर में युवराज ने 210 चौके और 143 छक्के लगाए हैं अपने आईपीएल करियर कि 73 इनिंग्स में युवराज ने 36 विकेट भी हासिल किए हैं तथा दो बार हैट्रिक लेने का अनोखा रिकॉर्ड भी बनाया है ! 


Yuvraj singh awards | युवराज सिंह के पुरस्कार

  • वर्ष 2011 में आईसीसी वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड
  • वर्ष 2012 में भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा भारत का दूसरा सबसे बड़ा खेल रत्न अवॉर्ड अर्जुन अवार्ड से नवाजा गया
  • वर्ष 2014 में इन्हें पद्म श्री अवार्ड से नवाजा गया
  • फरवरी वर्ष 2014 में इन्हें साल के सबसे प्रेरणादाई खिलाड़ी के रूप में FICCI अवॉर्ड के साथ सम्मानित किया गया

Yuvraj singh records | युवराज सिंह के रिकॉर्ड

  • लगातार 1 ओवर में 6 गेंदों पर 6 छक्के  लगाने का रिकॉर्ड
  • आईपीएल में 2 हैट्रिक का रिकॉर्ड ! 
  • विश्व कप 2011 में 362 रन और 15 विकेट लेने का रिकॉर्ड   जिसके लिए इन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया था ! 
  • T20 मैच में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड मात्र 12 गेंदों पर 50 रन  ! 
  • 8000 रन बनाने वाले भारत के पांचवें बल्लेबाज


Note: - Yuvraj Singh Biography  in hindi कैसी लगी आप सबको प्लीज कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए  आर्टिकल में आपको कोई भी कमी नजर आती है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसमें सुधार करके अपडेट कर देंगे | अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आए तो इसे Facebook,  WhatsApp और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें !

Email subscription करें और पाएं new & more Article आपकी मेल पर सबसे पहले !

No comments:

Post a Comment